Phone: +91-9254321162

Information About KISAN Uphar Yojna

Haryana KISAN Uphar Yojna


हरियाणा राज्य कृषि विपणन बोर्ड की तरफ से प्रदेश के किसानों के लिए कृषक उपहार योजना वर्ष 2015 में चालू की गई थी तब इस स्कीम पर प्रत्येक वर्ष 11 करोड़ रुपये खर्च करने का प्रावधान था । इस स्कीम के अन्तर्गत साल में दो बार किसानों को ईनाम दिए जाते है एक रबी फसल और दूसरी खरीफ फसल मंडी में बेचने के उपरांत किसानो द्वारा जे फॉर्म प्राप्त करने पर। वर्तमान साल में कृषक उपहार योजना का द्वितीय चरण 1 जनवरी, 2019 से शुरू हो चूका है ।

हरियाणा सरकार ने स्कीम पर सफलता प्राप्त होते जानकर साल 2019 में किसानो द्वारा रूचि अधिक लिए जाने के कारण और किसानो को ज्यादा लाभ देने के लिए स्कीम पर खर्च किये जाने वाली राशि को बढाकर दोगुना करते हुए 24 करोड़ कर दिया है जिसके फलसवरूप ईनामों की संख्या भी दो गुणा हो गई है ।

इस स्कीम के अन्तर्गत किसानों को 88 ट्रैक्टर व ट्राली, 150 हेप्पीसीडर, 94 रोटावेटर तथा 1440 साईकिल मार्किट कमेटियों में रबी व खरीब सीजन के दौरान उन किसानों को दिए जाएंगे जो अपनी कृषि उपज मंडियों में लेकर आएंगे तथा (J-Form)जे फार्म आढ़ती से प्राप्त करेंगे।

जिला स्तर पर कमेटी द्वारा स्पेशल काउंटर लगाकर किसानों को कूपन वितरित किए जा रहे है। किसान अपनी फसल का जे फार्म व आधार कार्ड दिखाकर कार्यालय से यह लक्की कूपन ले सकता है। किसान को 10000 रुपये की कीमत के जे फार्म पर एक लक्की कूपन दिया जाएगा। उदाहरण के लिए अगर एक किसान ने रु80000 कीमत की फसल मंडी में बेचीं है तब किसान को अपना जे फॉर्म एवं आधार कार्ड की फोटो प्रति अपनी नजदीकी जिला मार्किट कमेटी कार्यालय में जमा करवाने उपरान्त उपरोक्त राशि के अनुसार 8 कूपन प्रदान किये जायेंगे।

जिसमें किसानों के साथ-साथ जो व्यापारी या आढ़ती ज्यादा से ज्यादा डायरेक्ट पैमेंट किसानों से ऑनलाइन करवाएंगे, उन व्यापरियों को भी ईनाम में मोटरसाइकिल दिए जाएंगे, जो दस कार्यकारी अधिकारी एवं सचिव ऑनलाइन डायरेक्ट पेमैंट ज्यादा से ज्यादा करवाएगें उनको भी ईनाम में मोटरसाईकिल दिए जाएंगे तथा eNAM मंडियों के कर्मचारी जो eNAM को लागू करने में अच्छा योगदान करेंगे, उन्हें भी 540 मोटरसाईकिल ईनाम में दी जाएंगी।




हरियाणा सरकार ने किसानों की फसल को जोखिम मुक्त बनाने के लिए भावान्तर भरपाई योजना लागू की है। जिससे कृषि उपज को बढ़ावा भी मिलेगा तथा किसानों की आमदनी में भी बढ़ोतरी होगी। वर्तमान सरकार का प्रयास है कि दूध उत्पादन में भी हरियाणा पंजाब से आगे आए और देश का अग्रणी राज्य बने।

कूपन प्राप्त करने के लिए जरुरी दस्तावेज निम्न प्रकार है :-

  • Identity Proof(Aadhaar Card) / पहचान प्रमाण (आधार कार्ड )
  • Address Proof / पता प्रमाण
  • J-Form / जे फार्म (विभाग से या आढ़ती से प्राप्त करें)

KISAN Uphar Term's