Phone: +91-9254321162

Support On Go Digital Go Cashless

Go Digital(डिजिटल बने :)

डिजिटल भारत (डिजिटल इण्डिया) सरकारी विभागों एवं भारत के लोगों को एक दूसरे के पास लाने की भारत सरकार की एक पहल है। माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने डिजिटल इंडिया की शुरुआत की है।

परिचय

डिजिटल इंडिया भारत सरकार की एक पहल है जिसके तहत सरकारी विभागों को देश की जनता से जोड़ना है। इसका उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि बिना कागज के इस्तेमाल के सरकारी सेवाएं इलेक्ट्रॉनिक रूप से जनता तक पहुंच सकें। इस योजना का एक उद्देश्य ग्रामीण इलाकों को हाई स्पीड इंटरनेट के माध्यम से जोड़ना भी है। डिजिटल इंडिया के तीन कोर घटक हैं-

  • 1- डिजिटल आधारभूत ढाँचे का निर्माण करना,
  • 2- इलेक्ट्रॉनिक रूप से सेवाओं को जनता तक पहुंचाना,
  • 3- डिजिटल साक्षरता।
  • डिजिटल भारत योजना को 2019 तक कार्यान्वयित करने का लक्ष्य है। एक टू-वे प्लेटफॉर्म का निर्माण किया जाएगा जहाँ दोनों (सेवा प्रदाता और उपभोक्ता) को लाभ होगा। यह एक अंतर-मंत्रालयी पहल होगी जहाँ सभी मंत्रालय तथा विभाग अपनी सेवाएं जनता तक पहुंचाएंगें जैसे कि स्वास्थ्य, शिक्षा और न्यायिक सेवा आदि। चयनित रूप से पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप (पीपीपी) मॉडल को अपनाया जाएगा। इसके अतिरिक्त राष्ट्रीय सूचना केंद्र के पुनर्निर्माण की भी योजना है। यह योजना मोदी प्रशासन की टॉप प्राथमिकता वाली परियोजनाओं में से एक है। यह एक सराहनीय और सभी साझेदारों की पूर्ण समर्थन वाली परियोजना है। जबकि इसमें लीगल फ्रेमवर्क, गोपनीयता का अभाव, डाटा सुरक्षा नियमों की कमी, नागरिक स्वायत्तता हनन, तथा भारतीय ई-सर्विलांस के लिए संसदीय निगरानी की कमी तथा भारतीय साइबर असुरक्षा जैसी कई महत्वपूर्ण कमियाँ भी हैं। डिजिटल इंडिया को कार्यान्वयित करने से पहले इन सभी कमियों को दूर करना होगा।

    डिजिटल भारत के प्रमुख स्तम्भ

    प्रधानमन्त्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान का प्रतीकचिह्न

    डिजिटल इंडिया के 9 स्तंभ हैं-

    1- ब्रॉडबैंड हाईवे

    2- सबको फोन की उपलब्धता

    3- इंटरनेट तक सबकी पहुंच

    4- इ-शासन (टेक्नालॉजी की मदद से शासन)

    5- ई-क्रांति (इलेक्ट्रानिक सेवाएं)

    6- सभी के लिए सूचना

    7- इलेक्ट्रानिक मैन्युफैक्चरिंग

    8- आईटी के जरिए रोजगार

    9- भविष्य की तैयारी के कार्यक्रम